Home Health Tips नमक के 8 फायदे, स्वास्थ को कई लाभ

नमक के 8 फायदे, स्वास्थ को कई लाभ

4913

नमक केवल भोजन में स्वाद बढ़ाने का काम नहीं करता बल्कि यह हमारी हेल्थ के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है।अक्सर डॉक्टर बीपी लो होने पर मरीज को नमक ज़्यादा मात्रा में सेवन करने की सलाह देते हैं, लेकिन अगर सही और उचित मात्रा में इसका इस्तेमाल किया जाए तो ये स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं को दूर करने में मदद करता है, इसलिए आज हम आपको नमक के सभी फायदों के बारे में बताने जा रहे है।

नमक के प्रकार

1. टेबल सॉल्ट (सादा नमक)

टेबल सॉल्ट में सोडियम सबसे अधिक मात्रा में पाया जाता है। इस नमक में पर्याप्त मात्रा में आयोडीन भी मौजूद होता है, जो हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। यदि टेबल सॉल्ट का सेवन सीमित मात्रा में किया जाए, तो यह हमारे शरीर के लिए बहुत फायदेमंद साबित होगा, लेकिन इसका अधिक मात्रा में सेवन हमारी हड्डियों को सामान्य तौर पर प्रभावित करने लगता है। जिसकी वजह से हमारी हड्डियाँ कमजोर होने लगती हैं। खासतौर पर युवा वर्ग के लोगों में हड्डी से संबंधित रोगों की समस्या अधिक देखी गयी है। इसका सबसे बड़ा कारण नमक का अधिक सेवन और फास्ट फूड की लत है।

2. रॉक सॉल्ट (सेंधा नमक)

इस नमक को रॉक सॉल्टज के आलवा व्रत का नमक और लाहोरी नमक नाम से भी पुकारा जाता है। यह नमक बिना रिफाइंड के तैयार किया जाता है, हालांकि इसमें सादे नमक की तुलना में काफी अधिक मात्रा में कैल्शियम, पोटेशियम और मैग्नीशियम मौजूद होता है। साथ ही यह हमारे स्वास्थ्य के लिए भी बहुत अच्छा होता है। जिन लोगों को हार्ट और किडनी सें संबंधित समस्या होती हैं। उनके लिए इस नमक का सेवन बहुत फायदेमंद साबित होता है।

3. ब्लैक सॉल्ट (काला नमक)

ब्लैक सॉल्ट (काला नमक) का सेवन हर उम्र के व्यक्ति के लिए बहुत फायदेमंद होता है। ब्लैक सॉल्ट का सेवन करने से कब्ज, बदहजमी, पेट दर्द, चक्कर आना, उल्टी आना और जी घबराने जैसी समस्याओं से छुटकारा दिलाने में बहुत मदद करता है। गर्मियों के मौसम में डॉक्टर भी नींबू पानी या फिर छाछ के साथ काला नमक का सेवन करने की सलाह देते हैं। आपको बता दें कि काला नमक भले ही सेहत के लिए कई मायनों में फायदेमंद है लेकिन इसमें फ्लोराइड मौजूद होता है इसलिए इसके अधिक सेवन से नुकसान होने का भी खतरा रहता है।

4. लो-सोडियम सॉल्ट एवं सी सॉल्ट

इस नमक को पौटेशियम नमक के नाम से भी जाना जाता है, हालांकि सादा नमक की तरह इसमें भी सोडियम और पौटेशियम क्लोराइड होते हैं। जिन लोगों को ब्लड प्रेशर(BP) की समस्या होती हैं, उन्हें लो सोडियम सॉल्ट का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा हदय रोगी और मधुमेह रोगियों के लिए भी यह नमक फायदेमंद होता है। यह नमक वाष्पीकरण के जरिए बनाया जाता है और यह सादा नमक की तरह नमकीन नहीं होता है। सी सॉल्ट का सेवन पेट फूलना, तनाव, सूजन, आंत्र गैस और कब्ज जैसी समस्याओं के वक्त सेवन करने की सलाह दी जाती है।

इसे भी पढ़े: ये 9 घरेलू नुस्खे, बचाये आपको साइनस से होने वाली परेशानी से

नमक के फायदे

1. अपच की समस्या

गलत खान-पान के कारण कई लोगों को पेट और पाचन से संबंधित समस्याएं होती हैं। पाचन शक्ति को सुधारने के लिए आप सेंधा नमक का सेवन कर सकते हैं। इसमें लैक्सेटिव यानी पेट साफ करने का गुण होता है, जिससे कि पाचन शक्ति में सुधार होगा। पाचन खराब होने पर, हल्के भोजन के कारण भी दस्त लग जाने पर, पेचिश, कब्ज आदि की समस्या होने पर शरीर दुर्बल और कमजोर हो जाता है। ऐसे में 5 ग्राम नमक गर्म पानी में घोल लें और फिर इसे पियें। इसका सेवन करने से यह समस्या ठीक हो जाएगी।

2. कोलेस्ट्रॉल

काला नमक के स्वास्थ लाभ की बात करें, तो यह ह्रदय की अनियमित धड़कनों को नियंत्रित करता है। यह कोलेस्ट्रॉल और उच्च रक्तचाप को भी नियंत्रित करने में मदद करता है, जिससे दिल का दौरा और स्ट्रोक जैसी समस्या का खतरा कम हो जाता है। काले नमक में आसानी से घुलने और टूटने वाले गुण होते हैं, इसलिए इसका इस्तेमाल एंटी-कोलेस्ट्रॉल पदार्थों को बनाने में किया जाता है।

3. सिरदर्द

आजकल कई लोगों को सिरदर्द और माइग्रेन की समस्या होती है। काम का तनाव, खराब जीवनशैली व गलत खान-पान की वजह से यह परेशानी और बढ़ने लगती है। इसलिए जब भी सिरदर्द की समस्या हो, तो सेंधा नमक को पानी में मिलाकर नहाएं, इससे काफी आराम मिल सकता है। इसके अलावा, कई बार मैग्नीशियम सल्फेट को इंजेक्शन के जरिए भी दिया जाता है, जिससे सिरदर्द की समस्या से आराम मिल सकता है।

4. जहर को बेअसर करता है 

अगर किसी व्यक्ति ने गलती से जहर पी लिया हो, तो उस स्थिति में नमक सबसे अधिक फायदेमंद साबित होता है। इसके लिए 1 ग्लास पानी में 4 चम्मच नमक घोलकर तुरंत ही 2 से 3 ग्लास पीला दें। पेट दबाये और कंठ में उंगली डलवाएं और उल्टी करवाने की कोशिश करें। ऐसा करने से आपने जितना पानी पीया है वो बाहर आ जाएगा और उसके साथ ही विष भी बाहर आ जाएगा। इसके बाद 50 ग्राम घी गर्म करके उसमे एक चौथाई चम्मच पीसी हुई कालीमिर्च मिलाएं और पियें।

5. मुंह के छाले

मुंह में छाले होने पर एक ग्लास गुनगुने पानी में एक चम्मच नमक को मिलाकर रोजाना दिन में 3 बार गरारे करने से मुंह में छाले की समस्या दूर धीरे धीरे दूर होने लगती है। इसका उपयोग करते समय थोड़ी जलन अवश्य होगी, लेकिन इससे छालों में जल्द ही आराम मिलेने लगेगा, फिर भी इस बात का खासतौर पर ध्यान रखें, कि इस बीच मसाले का इस्तेमाल कम करें और आप नमक वाला खाने का भी आसानी से सेवन कर सकते हैं।

6. पेट दर्द

अगर पेट ठीक नहीं है, तो उससे कई और परेशानियां शरीर में होने लगती हैं। अगर आपको पेट दर्द व ऐंठन के कारण रात में नींद नहीं आती है, तो सेंधा नमक का इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप चाहते हैं कि आप कब्ज या पेट की परेशानियों से बचे रहें, तो आप सेंधा नमक का सेवन कर सकते हैं। सेंधा नमक में लैक्सेटिव यानी पेट साफ करने के गुण मौजूद होते हैं। इसके सेवन से कब्ज और पेट की समस्या से काफी हद तक आराम मिल सकता है। इसके लिए एक गिलास गर्म पानी में आधा चम्मच नमक, आधा चम्मच अजवाइन और एक नींबू निचोड़कर इसे पियें। पेट दर्द ठीक हो जाएगा। इसके साथ ही गैस की समस्या भी इसे पीने से ठीक हो सकती है।

7. सांस की समस्या

काले नमक का उपयोग नाक और गले के अंदर जमी गंदगी को साफ करने के लिए किया जाता है। इस तकनीक के लिए काले नमक को इनहेलर में डाल कर उससे सांस ली जाती है। यह तकनीक बहुत प्रभावशाली है और इसकी मदद से आम सर्दी से लेकर गंभीर समस्याएं जैसे साइनस, अस्थमा, एलर्जी और हे फीवर भी ठीक हो सकता है।

8. त्वचा (स्किन) के लिए

लोग अपनी त्वचा को स्वस्थ व जावां बनाये रखने की पूरी कोशिश करते हैं, इसके लिए लोग तरह-तरह की क्रीम, मेकअप व उपचार का सहारा लेते हैं। इनका असर कुछ समय तक ही रहता है और बाद में त्वचा फिर से बेजान लगने लगती है। ऐसे में घरेलू उपचार फायदेमंद साबित होते हैं और सेंधा नमक उन्हीं में से एक है। इससे न सिर्फ त्वचा एक्सफोलिएट होती है, बल्कि साफ भी होती है। आप चेहरा साफ या एक्सफोलिएट करने के लिए आधा चम्मच सेंधा नमक को अपने क्लींजिंग क्रीम के साथ उपयोग कर सकते हैं। इसे चेहरे पर लगाकर हल्के-हल्के हाथों से मालिश कर और फिर कुछ समय के बाद चेहरे को ठंडे पानी से धो लें।

इस आर्टिकल को भी पढ़े: ये 5 घरेलू नुस्खे नसों की कमजोरी दूर करने में फायदेमंद हैं